Crime

एस टी ऍफ़ की कार्यवाही, हथियारों का जखीरा मिला

Desk

कासगंज। 26 जनवरी के ठीक पांच दिन पूर्व यूपी के छोटे से जनपद कासगंज में आज एस टी ऍफ़ की टीम और कासगंज पुलिस ने जनपद के पटियाली कोतवाली के भरगेन् कस्वे से भारी मात्रा में असलाह बनाने की खेप बरामद की है जिसमें एस टी ऍफ़ की टीम और पुलिस ने मौके से भारी संख्या में अबैध असलाह जिनमें चार पिस्टल, तीन तमंचे 12 बोर, एक तमंचा 315 बोर और आठ तमंचा अध्बने 12 बोर एक अध्बना तमंचा 315 बोर के साथ कई कारतूस सहित असलाह बनाने की लोहे की नाले सहित बड़ी संख्या में असलाह बनाने के उपकरण भी बरामद किये हैं और वहीँ एस टी ऍफ़ की टीम ने मौके से हथियार बनाते दो लोगों को गिरफ्तार किया है। बड़ा सवाल ये है कि आखिर इतनी बड़ी संख्या में ये असलाह क्यों बनाया जा रहा था और इन बनने वाले असलाहों को कहाँ भेजा जाना था। क्या कोई यूपी में बड़ी साजिश तो नहीं की जा रही थी जहाँ ये असलाह जाना था। आपको हम बतादें कि एस टी ऍफ़ नोएडा और एस टी ऍफ़ बरेली की टीम को मुखबिर से सूचना मिली कि कासगंज जनपद के भरगेन् कस्वे में भारी मात्रा में हथियार बनाने का धंधा जोरों पर चल रहा है। इसी सूचना पर आज एस टी ऍफ़ नोएडा की टीम के इंचार्ज सी ओ प्रशांत कुमार और एस टी ऍफ़ बरेली टीम के इंचार्ज अजय यादव ने असलाह बनाने की खेप को पकड़ने के लिए कासगंज पहुंचकर एस पी हिमांशु कुमार से संपर्क किया। जिसमें एस पी कासगंज और जनपद के कई थानो की पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने भरगेन् गांब में एक संयुक्त अभियान चालाया। जिसमें टीम ने हथियार बनाते भरगेन कस्वे के रहने वाले कल्लू और इटावा जनपद के रहने वाले सज्जन को गिरफ्तार किया गया और वही पुलिस की इस कार्यवाही में भरगेन् कस्वे के ही रहने वाले आरिफ और चमन और पंडा मौके से फरार हो गए। जिनको पुलिस टीम अब भी तलाश कर रही है। जब पुलिस ने कार्यवाही के बाद मौके से असलाह बनाने का सामान देखा तो पुलिस और एस टी ऍफ़ की टीम के भी होश उड़ गए। मौके पर इतना असलाह बनाने का सामान था जिससे लग रहा था कि हर रोज यहाँ से भारी मात्रा में हथियारों की खेप कही जाती है। वही पकडे गए दोनों आरोपियों को अब पुलिस जेल भेजने की तैयारी कर रही है। वहीं मामले का खुलासा कर रहे एस पी कासगंज हिमांशु कुमार ने बताया की पकडे गए आरोपियों से चार पिस्टल तीन तमंचे 12 बोर के एक तमंचा 315 बोर और आठ अध्बने तमंचे और 12 बोर 315 बोर के कारतूस और उपकरण बरामद किये हैं। ये काम काफी समय से चल रहा था। ये असलाह राज्य से बाहर ज्यादातर बनकर मध्य प्रदेश जाते थे।

Report :- Desk
Posted Date :-
Crime